Monthly Archives: जून 2016

यूँ ही

सामान्य

भींगी गौरय्या की नम आँख में मैंने हरे पेड़ की परछाई देखी आस्वस्त होना चाहती है गौरय्या उसे डराओ मत … वो आज खुश है

हरे पेड़ घोंसलों से भरे हों ….और चिड़िया का बेबी रेन रेन गो अवे गाने लगे कितना अच्छा हो वो तितली की ऊँगली पकड़े इस्कूल जाने लगे … 😊😊😊😊😊😊